Sri Lanka 'destroyed' by China, seeks India's help as last resort

Zee News English 187.1K Views
  • 3.5K
  • 204
  • 23

Generating Download Links...

Sri Lanka 'destroyed' by China, seeks India's help as last resort

Posted 1 month ago in Politics

Nilesh Jain 19 days ago

पाकिस्तानी को गिरवी रखने के बाद श्रीलंका मैं कोशिश कर रहा है चीन

Pathan Khan 1 month ago

China zinda bad

Laxmi Sagolshem 1 month ago

No need to help. They are the one who betrayed India

Sheikh Faizan 1 month ago

Godi media

Deepak Ruhal 1 month ago

Ye sab chaina ki caal ha, jai hind

Avinesh Kumar 1 month ago

Y? Humne theka liya hai..? When we informed them about risks they were cozying with pak n china

Chu Zi 1 month ago

Dunya me agr jhoota media Ka asker award milta to endians media number 1 par Hota ,, khud hi Dekh lo okaat 🤣🤣

https://www.facebook.com/126548377386804/posts/6209232785784969/?app=fbl

Reputable Indian media outlets played video footage of fighter jets and pictures of US planes crashing in the video game to prove Pakistan's involvement in the fighting in Panjshir.

BBC .

Hitesh Patel 1 month ago

Or zee news app jo India me jise help chahiye vo sab pahle dikhaye not shrilanka or dusra desh me ....

Hitesh Patel 1 month ago

Pahle hamara India ma jo Garib he use help kare bad me shrilanka ko help kare....

Suhas Gopal Dnyate 1 month ago

नेपाल, पाकिस्तान, बांगलादेश, बर्मा, लंका, मालदीव और दुनिया के कई मुल्क... चीन अपना फंडींग बढाके उन देशो में अपना जाल बिछा रहा है. चीन को शह देने के लीये भारत भी वही तरीका न आपनाए. कोई भी फायदा नुकसान शाँर्टटर्म के लिये ना देखे.
चीन का जाल एक दीन उन देशोंके जनता समझ जाएगी. तब वही जनता उस चीन पुरस्क्रूत सरकार को उखाड फेकेगी.
भारत को सीर्फ सही मैत्री का किरेदार निभाना चाहिये.
अमेरीका, रशिया और अब चीन... जो भी वर्चस्ववादी है उनका नशा उतर ही जाता है. इससे सीख लेके भारत को आपनी योजनाए बनानी चाहीये.
आज आफगणिस्तान में भारत के 3 अरब का निवेश डुब गया, ऐसे जिनजीन को लगता है. वह बस तीनचार साल की प्रतिक्षा करे.
पाकिस्तानी सीपेक का हाल देख लो. मदत करना, और आपना शासन चलना इन दोनों का अंतर सभी समझ जाएंगे.
बस जल्दबाजी में भारत आक्रमक ना बन जाए.