SC ने Delhi में Oxygen Audit को दी मंजूरी, कोर्ट ने खुद किया ऑडिट टीम का चयन!

Republic Bharat 187.7K Views
  • 9.4K
  • 1.2K
  • 308

Generating Download Links...

SC ने Delhi में Oxygen Audit को दी मंजूरी, कोर्ट ने खुद किया ऑडिट टीम का चयन!

Posted 6 months ago in Politics

Sunil Sunil 6 months ago

जैसे ही मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में ऑक्सीजन डिस्ट्रीब्यूशन के ऑडिट का प्रस्ताव रखा तुरंत दिल्ली में ऑक्सीजन संकट समाप्त हो गया।😄😄

अवध किशोर राजीव 6 months ago

केजरीवाल को आक्सीजन प्रेस वार्ता करने से मिलेगा या वो केन्द्र से संबंधित मंत्री या अधिकारी से बात करने से मिलेगा । इसको कुछ भी चाहिए ये मनहूस सा सुरत लेकर प्रेस में बोलने चला आता है

Deepti Rohan Rastogi 6 months ago

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सिजन नहीं है मगर आम आदमी पार्टी के मंत्री व गुर्गों के पास आक्सीजन के गोदाम भरें हुए है

पंजाब के अस्पतालों में रेमडेसीवीर इंजेक्शन नहीं है, मगर कोंग्रेस शासित पंजाब में नहर में बहाया जा रहा है।

और यह सब इसलिए क्योंकि लोग मरेंगे तभी तो मोदी के खिलाफ माहौल बनेगा?

Nishi Joshi 6 months ago

दिल्ली की आबादी ढाई करोड़ ऑक्सिजन डिमांड 975 मीट्रिक टन यू पी की आबादी करीब चौबीस करोड़ ऑक्सिजन डिमांड 850 मीट्रिक टन कुछ समझ नहीं आ रहा

Sanjay Kasliwal 6 months ago

😊😊😊☹️😊😊😊🙄🙄🙄🙄😀😀😀😀😀
यदि वर्तमान समय में राहुल गांधी देश के प्रधान मंत्री होते तो हमारे देश में कोरोना से एक भी व्यक्ति की मौत नहीं होती. इस बीमारी में लगने वाले इंजेक्शन की पेटियां हर मुहल्ले में रखी रहती. ऑक्सीजन की तो बात ही मत पूछो इतना उत्पादन होता कि वेस्टेज ऑक्सीजन को समुद्र में बहाना पड़ता. हर गाँव में एक एम्स हॉस्पिटल होता और डॉक्टर की तो पूछो ही मत आधे डॉक्टर और नर्स तो फ्री ही बैठे रहते. हर कोरोना पेसेंट ठीक होने के बाद जब अपने घर जाता तो उसे बीएमडब्लू कार से घर तक छुड़वाने की व्यवस्था होती और उसे मोटी रकम का चेक दिया जाता. पूरे देश में चारों ओर खुशियां ही खुशियां होती और तो और देश के हर घर के आंगन में मोर नाचते ...

बस यहीं तक मैंने देखा और मेरी नींद खुल गयी
अब इसके आगे कल फिर देखूँगा ।
🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣
घर मे रहे सुरक्षित रहे,,सरकार अपना काम कर रही है ,,सरकार का सहयोग करिए,,,5, 10 करोड़ की जनसंख्या वाले विकसित देशो की भी हालत खराब हो रही है हमारे देश की 135 करोड़ जनसंख्या है 🙏🙏

Prahlad Singh 6 months ago

ऐसे ही लड़ते रहो सारे लोग मर रहे हैं तुम लोग कुछ शर्म नाम की चीज नहीं है तुम लोग खाली कोट कोट खेलो आदमी की जाने जा रही है इंसान मर रहा है

Ashwani Gupta 6 months ago

केजरुद्दीन ने षड्यंत्र तो मोदी जी को फंसाने के लिए रचा था। लेकिनअब खुद अपने ही षड्यंत्र में फँसेगा।

Jitendra Kumar Garhwal Jatt 6 months ago

लोकसभा में सांसद -543
राज्यसभा सांसद -245
विधायक -4116
कुल सदस्य -4906
अगर इन सब की जेब से 10-10 लाख रुपये भी लिए जाये तो 4906×10 लाख ,इतने रुपये हो जाएंगे इन सबसे ऑक्सीजन प्लांट लगाओ हस्पतालों में दवाइयां लाओ या सिर्फ घुस खाने के लिए चुनते हो इनको ??🤨🤨🤨🧐

यह पोस्ट हर पार्टी हर एक नेता पक्ष विपक्ष सबके लिए है।।।

Guddu Yadav 6 months ago

वैसे अब भारत सरकार को एक कमेटी बनानी चाहिए जो कि भारत के न्यायालयों में लोअर कोर्ट हाई कोर्ट सुप्रीम कोर्ट इन सभी में लाखों केस पेंडिंग पड़े हैं आज डिजिटल जमाने में भी बहुत सारे केस की वीडियो फुटेज सामने होने पर भी न्यायालय से न्याय मिलने में सालों लग जाते हैं बहुत सारे केस में न्याय की आस में लोगों की मृत्यु हो जाती परंतु न्यायालय से न्याय नहीं मिलता है हाईप्रोफाइल लोगों पर आरोप साबित होने के बाद भी न्यायालय से अंतरिम जमानत के नाम पर जमानत मिल जाती है और वह दोबारा जेल तक नहीं आते हैं कभी स्वास्थ्य का हवाला देकर जमानत ले लेते हैं इन सभी की जमानत रद्द की जाए और अपनी अपनी सजा पूरी करने के बाद ही सभी कैदी बाहर निकले। इसी तरह से भारत में गरीब आदमी को न्याय मिल सकता है। वरना इन केसों का निपटारा कभी भी नहीं होगा और पेंडिंग केस का बोझ बढ़ता ही चला जाएगा ऐसे सभी जजों पर जिन्होंने इमानदारी से कार्य नहीं किया उन सभी पर कार्रवाई होनी चाहिए और सारी फैसिलिटी और सैलरी रद्द होनी चाहिए।

Harpal Singh 6 months ago

इधर केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में ऑक्सीजन ऑडिट के प्रस्ताव दिया
उधर दिल्ली में ऑक्सीजन संकट चमत्कारिक रूप से समाप्त