आंदोलन का माहौल खराब करने में तुले गुणी प्रकाश, किसान बोले- अन्नदाता के नाम पर है धब्बा

Punjab Kesari Haryana 59.7K Views
  • 1.5K
  • 308
  • 111

Generating Download Links...

आंदोलन का माहौल खराब करने में तुले गुणी प्रकाश, किसान बोले- अन्नदाता के नाम पर है धब्बा

Posted 3 months ago in Politics

Dalbir Jaglan 3 months ago

किसान एकता जिंदाबाद आवाज दो हम सब एक हैं और एक ही रहेंगे यह कुछ एक सरकारी नुमाइंदे होते हैं जिनके ने जाति होती ना धर्म होता सड़क अपनी रोटी सेकने का मतलब होता है 32 साल के बाद नस्ल और फसल बताओ किसान कुंभ आया है अगर कोई इसमें भी हाउती नहीं डाल सकता तो उससे कमजोर आदमी कोई नहीं हो सकता समाज के लिए भारतीय किसान यूनियन का हमारे बुजुर्गों का एक ही मकसद रहा है एक ही नारा रहा मारेंगे नहीं मानेंगे नहीं अपना हक लेकर रहेंगे यह आंदोलन किसी एक का नहीं है 36 बिरादरी का है व्यापारी कर्मचारी मजदूर किसान सभी का है और सभी सहयोग दे रहे हैं और सभी सहयोग देते रहेंगे कम से कम सहयोग नहीं देश के तो दलाली तो ना करें भाईचारा खराब करने के

Virender Singh 3 months ago

गुणी नहीं यी भड़वा है ..... Bjp के चम्मचों मे से निकला एक कौआ है ... जय किसान

Ajay Ghanghas 3 months ago

Guni prkas too kuta BJP ka

Pritpal Singh Rasoday 3 months ago

गुणी प्रकाश ने हुड्डा के समय किसान आंदोलन में पुलिस की गोली खाई थी, जब चढूनी हुड्डा से पैसे लेकर बिक गया था,

Sharvan Bhero SB 3 months ago

किसान डाक कावड़ गांव की मिट्टी और पानी लेकर जांडली कलां फतेहाबाद से टिकरी बॉर्डर दिल्ली के लिऐ रवाना युवा किसान ।
#kisanektazindabaad #KisanAndolan
https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=114830714108377&id=100003282693352

Lalit Kumar 3 months ago

वो अपनी जगह सही हैं तुम चाहते हो कि सिर्फ तुम्हारी आवाज आए औरों को तो बोलने का हक ही नहीं है

Gulzar Singh 3 months ago

अब गुणी और परवीन को इनके गांव वाले ही सीधा कर देंगे...

Manjeet Wahla 3 months ago

जय किसान मजदूर एकता जिंदाबाद

Amit Tomar 3 months ago

Aur tum kya ho neta ji gunde jo dhamki de rage ho us ko ki tere gam main aa jaye
Jo tumhara khel hai aam janta sab samjh gayi hai jo sarkar se bhar bethe hai na lal jhande wale aur congressi vo sarkar main rahe bina ni rh pa rahe

महेंद्र जोशी जोशी 3 months ago

राकेश टिकैत गुरनाम सिंह चढोनी की अकल ठिकाने ये किसान आन्दोलन कारी ही लायेगे अब भेद खोलना चालू है इन दलालों आढतीयो का सब जैल मे सड़ेंगे