#TaalThokKe Special Edition: यूपी में घमासान, योगी ही कप्तान?

Zee News 33.9K Views
  • 635
  • 22
  • 146

Generating Download Links...

#TaalThokKe Special Edition: यूपी में घमासान, योगी ही कप्तान?

Posted 6 months ago in Politics

Vijay Singh 6 months ago

Only yogi ji

Sohan Amoli 6 months ago

Yogi ji is the heart of hindu and BJP.

Shaikh M F Azami 6 months ago

#VIDEO को आखरी तक सुन कर अपना राय जरूर बताईये।मोदी जी, शमशान घाट पर लिखवा दो, मंजिल यही थी, मैंने सात साल लगा दिए जनता को यहाँ तक लाने में, ताउम्र गुजारी फकीरी में, अब चिटा की राख भी बेचूंगा इसी ज़माने मे। इसिलए अपना ख्याल रखिये आप लोग, क्यों की, #bed और #oxygen न मिलने की वजह से कुछ ऐसे लोग भी इस दुनिया से चले गए जो कहते थे #मंदिर_यही_बनेगा।खा गए PM Care Fund का फण्ड और पी गए हमारे तेल, देख लिया देश ने झोलाछाप फकीर का खेल। कुछ समझ में नहीं आ रहा देश चल रहा है, बदल रहा है, या जल रहा हैं? नोटेबंदी से लाइन में लगाते लगाते #शमशान तक लाइन लगवा दिए और आप कह रहे हो की अभी भी विकास में कमी है? देश का विकास बहुत ऊंचाई पर पहुँच चूका है, और जाहिर सी बात है ऊंचाई पर ऑक्सीजन की कमी होती ही है। निकले थे #स्मार्ट_सिटी बनाने, #शमशान_सिटी बना बैठे। देखते ही देखते “Make in India” से “बेच in India” हुआ और आखरी में अब ” लाश in India” पर आ गए। खेर ये तो सारी दुनिया जानती हैं की मोदी जी बहुत कलाकार किस्म के जिव हैं, आप भी जानते ही होंगे। लेकिन मोदी जी जनता को गंगा में नंगा कर बहा देते है, ये तो आप नहीं ही जानते होंगे। आया था गंगा का लाल बन के, रह गया पूंजीपतियों का दालाल बन के। गंगा माँ का क्या हाल बना डाला आज गंगा को ही शमशान बना डाला।और वैसे भी चौकीदार और उनके गोबर भक्तो के लिए #ऑक्सीजन की कमी की वजह से लोगो का मरना मतलब, ये सब कोंग्रेसी चाल है, लोगो को ५०० रूपया देके गंगा में लाश बन के टहरने बोल रहे हैं, ताकि डंकापति को बदनाम कर सके।पर सच्चाई तो यह है की डंकापति ने देश का इतना डंका बजाया की आज देश की लंका लग चुकी हैं।मोदी जी का भाषण ही उनका शाशन हैं, और #गोबर_अंधभक्तों का राशन हैं "मोदी हैं तो मुमकिन हैं"।चमकदार जब उल्टा लटकता है तो उसे लगता है उसने पूरी धरती पलट दी, बस यही हाल है गोबर भक्तो का।मदारी अनपढ़ होता है, फिर भी पढ़े लिखो को झुमला दिखा कर उनसे तालिया बाजवा लेता है, और अंत में झोला भर के निकल लेता है। वरना ऐसी कोन सी नौबत आ जाती हैं की एक Phd डॉक्टरेट डिग्री धारी और IAS जैसे उच्च पद के अफसर वोटिंग बूट में जाके एक पांचवी फ़ैल चायवाला के नाम कमल चाप पर अपना ऊँगली दबा के आ जाता है? क्या यह सत्त्य नहीं हैं? जैसे हर तकला #चाणक्य नहीं होता, ठीक वैसे ही हर दढ़ियल #टैगोर नहीं होता। इन्हे न शर्म है न है लाज, बस इन्हे चाहिए ताज।अच्छा हाँ नया झुमला, #गोदीमीडिया ने डंकापति को बचाने के लिए #सिस्टम को जिम्मेदार बता दिया है। अरे कोई इन गोदियों से ये पूछे कि हमने वोट सिस्टम को नहीं बल्कि डंकापति को दिया था। जवानी में हुयी भूल ऐसी की मौका तक नहीं मिला भुगतान का क्यों की दब गया था #कमल का बटन और आज जनाज़ा निकल गया पुरे हिंदुस्तान का। जब उसको चुना ही था, उसकी #कत्लेआम का हुनर देख कर, तो आज मायूस क्यों हो #लाशो_का_सहर देख कर? क्या ये सत्त्य नहीं? मुझे तो अब चिंता इस बात का है की, कहीं अब नादान प्रभु श्मशान के बाहर लकड़ी बेचने को भी #रोजगार का अवसर ना बता दे! दिन में प्रचार मंत्री बनकर लाखो लोगो की रैली करता है, और शाम को कैमेरे के सामने प्रधानमंत्री बनकर दो गज की दुरी की उपदेश देते है। भारत में जनता को जितना मुर्ख बनाया जाता है उतना पुरे विश्व में कही नहीं बनाया जाता।असल में हमारे देश में ऊंट #बिसलेरी पहचान लेता है, लेकिन भारतीय #गधा नहीं पहचान पाया आज तक।शमशान में भी रैली कर लो साहेब वहा भी आजकल मुर्दो की भीड़ ज्यादा है। वैसे भी तो आपको मुर्दा वोटर ही चाहिए न, आपके अंधभक्तों की तरह।विचार कीजियेगा! और बाकि आगे वीडियो में इसीलिए Video को जितना हो सके आगे share कीजिये।न मैं रुकूंगा न तुम झुकना मिलकर इस गन्दगी को उतारेंगे कुर्ची से। धंन्यवाद https://www.youtube.com/watch?v=eAchaHZdmHE

Joseph Babiya 6 months ago

Yogiji hi cepton to ho halla kon kar raha khamkha ka dhrama kar rahe

Abdul Abdulhaseen 6 months ago

Khuch kaam nahi ayega bhosdi walo ka modi mantra..

Pawan Yadav 6 months ago

UP me yogiji se alag koi nahi

Bipin Sharma 6 months ago

Bjp ne des ko barwad kiye h

Om Prakash Srivastava 6 months ago

Yogi is fit for UP. Later on for PM

Vineet Chaturvedi 6 months ago

एक छोटा सा बदलाव तो सब देख रहे होंगे.... E-RICKSHAW.... तकरीबन हर शहर में 50% के आसपास भागीदारी हो चुकी है.... Two-wheeler में 10-15%..... उससे पहले एक और चीज़ ख़त्म हुई थी... घरेलू जेनरेटर.... उसे इन्वर्टर ने ख़त्म किया था....

इलैक्ट्रिक कार ,बस, ट्रक..... ये सभी अपने शैशव काल में है.... थोड़ा समय और.... कहीं 5-6 साल और कहीं 10-15 साल.... इससे ज्यादा नहीं.....

उसके बाद तेल की जरूरत 30-40% रह जाएगी.... शायद उससे भी कम.... और अधिकांश देश अपनी मौजूदा जरूरत का इतना तो पैदा कर ही रहे हैं....

अगर तेल नहीं तो खाड़ी देशों के पास बाकी क्या...? खजूर और ऊँट.... जब अपने खाने के वांदे होंगे तो फंडिग किसको करेंगे....?

90 के दशक के आखिर में अफ्रीका के बहुत से तानाशाह रातों रात अपने देश छोड़कर यूरोप में जा बसे थे.... अरेबियन शेखों के ऐसेटस भी बाहर बने हुए हैं... तेल का बुलबुला फूटा और शेख उड़न फलाई.....

ये किताबी कबीला अपने आप ही ख़त्म हो जाएगा.... बस तैयार रहिए घर वापसी करवाने को...

बाकी 16 सदी में बने ताजमहल के निर्माताओं की 1937 की फोटो देख लो... 2037 तक यही होगा वहाँ....ygnm

Shiv Gori Nath Ji 6 months ago

सुबह का हर पल ज़िंदगी दे आपको👪 बाबा शिव अघोरी नाथ9680305726🌹🌹🌹 समस्या है तो समाधान भी है एक बार कॉल जरूर करें919680305726🌞🌞 72 घंटों के अंदर अंदर🙌🙌 प्रेम विवाह शादी संजोग ग्रह कलेश सौतन दुश्मन से छुटकारा खिलाया पिलाया आदि हर समस्याओं का समाधान किया जाता है🙏🙏 नौकरी में तरक्की हासिल नहीं होना बीमारी में दवा का नहीं लगना स्पेशलिस्ट वशीकरण💑💑919680305726🍎🍇